Shardiya Navratri 2022: 26 सितंबर को सुबह इतने बजे से शुरू है घटस्थापना मुहूर्त, जानें किस समय करें कलश स्थापन

Share this article
Shardiya Navratri 2022: 26 सितंबर को सुबह इतने बजे से शुरू है घटस्थापना मुहूर्त, जानें किस समय करें कलश स्थापन

Shardiya Navratri 2022 Ghatsthapana: नवरात्रि में घटस्थापना के लिए सुबह का शुभ मुहूर्त ये है.

Shardiya Navratri 2022 Ghatsthapana Muhurat: शारदीय नवरात्रि इस साल 26 सितंबर, सोमवार से शुरू हो रही है. नवरात्रि के प्रथम दिन यानी प्रतिपदा तिथि में घटस्थापना किया जाता है. इस बार शारदीय नवरात्रि (Shardiya Navratri 2022) के पहले दिन खास संयोग बन रहे हैं. पंडितों और धर्मशास्त्र के जानकरों के मुताबिक शुभ मुहूर्त में घटस्थापना (Ghatsthapana Time) करना अच्छा रहेगा. इसके अलावा इस बार नवरात्रि में मां दुर्गा का वाहन हाथी है. ऐसे में मां दुर्गा हाथी पर सवार होकर भक्तों के घर पधारेंगी. जिसे अत्यंत शुभ माना जा रहा है. आइए जानते हैं कि नवरात्रि में घटस्थापना के लिए कौन-कौन से शुभ मुहूर्त हैं. 

यह भी पढ़ें

शारदीय नवरात्रि पर बन रहे हैं ये शुभ संयोग | Shardiya Navratri 2022 Shubh Yog

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शारदीय नवरात्रि का प्रथम दिन सुबह शुक्ल योग और ब्रह्म योग बन रहे हैं. 26 सितंबर, सोमवार को सुबह 8 बजकर 06 मिनट तक शुक्ल योग रहेगा. इसके बाद ब्रह्म योग शुरू हो जाएगा. धर्म शास्त्रों के मुताबिक ब्रह्म और शुक्ल योग में किए गए कार्यों का शुभ परिणाम प्राप्त होता है. 

Durga Saptashati Mantra: नवरात्रि में करें दुर्गा सप्तशती के 5 सिद्ध और संपुट मंत्रों का जाप, हर तरह के कष्टों से मिलेगी मुक्ति!

घटस्थापना शुभ मुहूर्त | Shardiya Navratri 2022 Ghatsthapana Muhurat

आश्विन मास की नवरात्रि के प्रथम दिन यानी 26 सितंबर, सोमवार को घटस्थापना किया जाएगा. इस दिन घटस्थापना के लिए शुभ मुहूर्त सुबह 6 बजकर 11 मिनट से लेकर 7 बजकर 51 मिनट तक है. यानी इस बार सुबह में घटस्थापना के लिए 1 घंटा 40 मिनट का समय मिलेगा. इससे अलावा घटस्थापना के दिन अभिजित मुहूर्त सुबह 11 बजकर 48 मिनट से लेकर दोपहर 12 बजकर 36 मिनट तक है. ऐसे में इस अवधि में भी घटस्थापना कर सकते हैं. ज्योतिष शास्त्र में अभिजित मुहूर्त को शुभ कार्यों के लिए अच्छा माना गया है. 

नवरात्रि के पहले दिन बन रहे ये शुभ संयोग

  • ब्रह्म मुहूर्त- सुबह 04 बजकर 36 मिनट से 05 बजकर 23 मिनट तक
  • अभिजित मुहूर्त- सुबह 11 बजकर 48 मिनट से दोपहर 12 बजकर 36 मिनट तक
  • विजय मुहूर्त- दोपहर 02 बजकर 13 मिनट से 03 बजकर 01 मिनट तक
  • गोधूलि मुहूर्त- शाम 06 बजकर 01 मिनट से 06 बजकर 25 मिनट तक

इन मुहूर्तों में न करें घटस्थापना

  • राहुकाल – सुबह 07 बजकर 41 मिनट से 09 बजकर 12 मिनट तक
  • यमगण्ड – सुबह 10 बजकर 42 मिनट से दोपहर 12 बजकर 12 मिनट तक
  • दुर्मुहूर्त – दोपहर 12 बजकर 36 मिनट से 01 बजकर 24 मिनट तक
  • गुलिक काल – दोपहर 01 बजकर 42 मिनट से दोपहर 03 बजकर 13 मिनट तक   

Navratri Kanya Pujan 2022: कन्या पूजन से मिलता है नवरात्रि का संपूर्ण फल, यहां जानें डेट और नियम

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. एनडीटीवी इसकी पुष्टि नहीं करता है.)
 

राजस्थान: दुर्गा पूजा की तैयारियां शुरू, बनाई जा रही हैं मां की मूर्तियां